किसी भी स्थिति में घमण्ड न करें-1


         मनुष्य को किसी भी कारण,घमणड
नहीं करना चाहिए,क्योंकि विद्या,बुद्धि,ज्ञान,
और शक्ति सबकुछ भगवान के आश्रित है।आप
उन्हैं अपने विकास के यंत्र की भॉति   प्रयोग करें ।
यदि किसी कारण आपके भीतर अभिमान का संचार
होता है तो विद्या भी अविद्या की तरह क्रिया करती है।
इसलिए हमें मूल लक्ष्य को नहीं भूलना चाहिए।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s