नि:स्वार्थ प्रेम करें


 

               इस स्वार्थमय होती
दुनिया में हाशिये पर खिसकते
जा रहे   मानवीय सरोकारों के बीच
अपना सब कुछ दांव पर लगाकर दिलों
में रोशनी बिखेरने वाले लोगों की महत्ता
कहीं बढ़कर है। स्वार्थ की आंधी में उड़ते
मानवीय रिश्तों के बीच   यदि कोई प्यार,
सहकार और सेवा की ज्योति जलाए, तो
ऐसा लगता है कि इस दुनिया के घने अंधेरों
में भी कुछ लोग हैं जो सबको थामे मशाल के
समान जलते रहते हैं।

                  इन देवदूतों को देखकर
लगता है कि धरा कभी   भी ऐसे महान
बलिदानियों से और नि:स्वार्थ सेवाभावियों
से रिक्त नहीं हो सकती। फिर चाहे ऐसे लोग
किसी रूप में क्यों न हों?    आज भी इस टूटते-
बिखरते संबंधों वाले     समाज में ऐसे लोग हैं, जो
गुमनाम होकर शांत व निर्विकार भाव से अपने कार्य
को अंजाम देने में भरोसा रखते हैं। ऐसे लोगों की जिंदगी
किसी श्रेष्ठ साधना अथवा महान यज्ञ से कम नहीं है। वर्त-
मान समय में कुछ न करके भी मुफ्त में यश और सम्मान
बटोरने के लिए और प्रतिष्ठा पाने के लिए अखबारों और टीवी
चैनलों पर भीड़ लगी रहती है। ऐसे आडंबरों और पाखंडपूर्ण प्रचार
के बीच कोई व्यक्ति इतना त्याग और सेवा करने के बावजूद लाभ
पाने से भी परहेज कर रहा हो तो सोचा जा सकता है कि उसका
उद्देश्य और नियम कितना पवित्र है।

              इस स्वार्थमय समाज
में अभी भी कोई ऐसा है, जो केवल
दूसरों के कल्याण के लिए सोचता ही नहीं,
बल्कि अपनी पूरी क्षमता से उसे क्रियान्वित
भी करता है। समाजसेवा के नाम पर चल रहे
कथित गोरखधंधों से दूर, किसी की सहायता के
बगैर अपनी हिम्मत और साहस के बल पर इतना
बड़ा काम करना अवश्य ही प्रशंसनीय है। ऐसा इसलिए.
क्योंकि सेवा के साथ तमाम चुनौतियां भी संलग्न होती हैं।
ऐसी मान्यता है कि उच्चतम उद्देश्य के लिए किया गया कोई
प्रयास अधूरा नहीं रहता, उसे दैवीय सहयोग अवश्य मिलता है।
ऐसे नि:स्वार्थ समाजसेवियों से प्रेरणा और प्रकाश मिलता है।
व्यक्ति सोचने के लिए मजबूर होता है कि दूसरों के लिए
करके जो सुख मिलता है उसका कोई विकल्प नहीं है।
ऐसे लोगों का हमें हृदय से सम्मान और आदर करना
चाहिए, ताकि समाज में उनके कार्यो का प्रभाव बढ़े
और लोग उनके जैसे महान कार्यो में नियोजित
करके स्वयं को धन्य मानें।

 

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s