बीमारी के लक्षण और इलाज


A-          चार वर्षीय पुत्र
को पेशाब करते वक्त जलन
होती है और उसे पिछले एक हफ्ते
से बुखार भी आ रहा है। बच्चे का ब्लड
काउंट नॉर्मल है। क्या करूं? इस संदर्भ में
परामर्श देने का कष्ट करें।
(संजना सिंह, नई दिल्ली)

                  ऐसी संभावना है
कि आपका बच्चा यूरिन ट्रैक्ट
इंफेक्शन (यूटीआई) से ग्रस्त है।
सबसे पहले आप बच्चे का कल्चर
सेंसिटिविटी टेस्ट और किडनी का
अल्ट्रासाउंड कराएं। यूरिन कल्चर रिपोर्ट
आने के बाद बाल रोग विशेषज्ञ से परामर्श
लेकर आपको बच्चे को सात दिनों तक
एंटी बॉयटिक दवा देनी पड़ेगी। ऐसे मामलों
में बाद में कभी-कभी मिक्ट्योरेटिंग यूरेथ्रो ग्राम
नामक एक रेडियोलॉजी टेस्ट की जरूरत पड़ सकती
है।

B-        सात वर्षीय पुत्री
को पिछले चार महीनों से
मौसम बदलने के कारण
सांस लेने में तकलीफ है।
उसके लिए कभी-कभी ‘साल-
ब्यूटामोल’ का इस्तेमाल करना
पड़ता है। क्या इस रोग का दीर्घकालिक
और स्थायी इलाज संभव है?
(एडवर्ड सैम्युएल, आगरा)

                   आपकी बेटी
‘एलर्जिक व्हीजिंग’ नामक
रोग से ग्रस्त है। उसे 8 सप्ताह
तक एक इनहेलर के जरिये रोकथाम
से संबंधित ‘मोंटील्यूकॉस्ट’ नामक उपचार
की जरूरत है। ध्यान दें कि बच्ची अपने खान-
पान में नट्स और चॉकलेट से परहेज करे।

C-      एक महीने के
बच्चे को कई दिनों से
लगातार कब्ज बरकरार है।
परामर्श दें कि उसकी यह तकलीफ
कैसे दूर हो?
(अयाना, अलीगढ़)

               बच्चे का आप
थायरायड प्रोफाइल टेस्ट
कराएं। अक्सर इस उम्र में
हाइपोथायराड्स नामक रोग
के चलते बच्चों को कब्ज की
शिकायत हो जाती है।